रविवार का दिन – क्या करें क्या नहीं क्या खाएं क्या नहीं खाना चाहिए

रविवार का दिन बहुत खास होता है जानिए इस दिन क्या करें क्या नहीं क्या खाएं क्या नहीं खाना चाहिए

हिंदू मान्यताओं और परंपराओं की जीवंत परंपरा में, सप्ताह का प्रत्येक दिन अपना अनूठा महत्व रखता है और अपने भक्तों के दिलों में एक समर्पित स्थान रखता है। इन दिनों में, रविवार, जिसे हिंदी में “रविवार” के नाम से जाना जाता है, अत्यधिक महत्व और आध्यात्मिक महत्व का दिन है। आइए उन कारणों पर गौर करें कि रविवार को क्यों पूजनीय माना जाता है, यह किस देवता को समर्पित है और इस शुभ दिन से जुड़े रीति-रिवाज क्या हैं।

raviwar ka din रविवार का दिन

रविवार का दिन किस देवी देवता को समर्पित होता है

रविवार का दिन सूर्य को समर्पित है, जो हिंदू पौराणिक कथाओं में उज्ज्वल और शक्तिशाली सूर्य देवता हैं। सूर्य को प्रकाश, जीवन और ऊर्जा का प्रतीक माना जाता है। उन्हें अक्सर सात घोड़ों द्वारा संचालित रथ पर सवार दिखाया जाता है, जो इंद्रधनुष के सात रंगों का प्रतिनिधित्व करता है। सूर्य न केवल भौतिक प्रकाश और गर्मी का स्रोत है, बल्कि एक आध्यात्मिक इकाई के रूप में भी पूजनीय है जो हमारे जीवन से अंधकार और अज्ञान को दूर करता है।

 रविवार का दिन किस लिए खास माना जाता है

  • महत्वपूर्ण ऊर्जा का स्रोत: हिंदू धर्म में सूर्य को ऊर्जा और जीवन का अंतिम स्रोत माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि रविवार को सूर्य की पूजा करने से भक्तों को शक्ति, जीवन शक्ति और अच्छा स्वास्थ्य मिलता है।
  • बाधाओं को दूर करने वाला: भक्तों का मानना ​​है कि रविवार को सूर्य की पूजा करने से बाधाएं दूर हो सकती हैं और उनके रास्ते में स्पष्टता आ सकती है। ऐसा माना जाता है कि सूर्य देव का आशीर्वाद लेने से चुनौतियों पर काबू पाने और सफलता प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।
  • सकारात्मक आभा: रविवार को सकारात्मकता और आशावाद को अपनाने का दिन माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि सूर्य की चमक हमारे जीवन को सकारात्मक ऊर्जा से भर देती है, नकारात्मकता को दूर करती है और आंतरिक शांति को बढ़ावा देती है।
See also  हाथ पैर और तलवे में खुजली का मतलब क्या होता है शुभ या अशुभ

रविवार को क्या करें और क्या न करें:

  • सूर्य नमस्कार (सूर्य नमस्कार): सूर्य देव को समर्पित योग मुद्राओं का एक क्रम, सूर्य नमस्कार करना, रविवार को दिन की शुरुआत करने का एक लोकप्रिय तरीका है। ऐसा माना जाता है कि यह शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ाता है।
  • सूर्य मंदिरों के दर्शन करें: रविवार के दिन सूर्य को समर्पित मंदिरों, विशेष रूप से ओडिशा के प्रसिद्ध कोणार्क सूर्य मंदिर के दर्शन करना अत्यधिक शुभ माना जाता है।
  • अर्घ्य दें: उगते या डूबते सूर्य को जल (अर्घ्य) देना एक आम प्रथा है। ऐसा माना जाता है कि यह कृतज्ञता व्यक्त करने और सूर्य से आशीर्वाद मांगने के लिए है।

रविवार के दिन क्या खाना चाहिए?

दोस्तों यदि आप अपने घर में सुख शांति समृद्धि देखना चाहते हैं तो रविवार के दिन विशेष रूप से  आपको चीनी या गुड़ से बनी हुई रोटी खानी चाहिए इस दिन गुड़ की बनी रोटी खाने से घर में धन और ऐश्वर्य आता है घर की शांति बनी रहती है यदि आप गुड़ की बनी रोटी नहीं खाना चाहते तो गुड खाना रविवार के दिन ना भूले ऐसा करने से आपको बहुत ही अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे| रविवार को चने और मूंग की दाल उन लोगों को खानी चाहिए जो लोग अस्वस्थ हैं किसी कारणवश किसी बीमारी का शिकार हो चुके हैं या जो लोग स्वस्थ रहना चाहते हैं तो स्वस्थ रहने के लिए आपको रविवार के दिन यह दो दालें जरूर खानी चाहिए”

रविवार के दिन क्या नहीं करना चाहिए या खाना पीना चाहिए

यदि रविवार के दिन खाने पीने की बात आती है तो यदि आप सूर्य को मजबूत करना चाहते हैं तो ऐसे में आपको नमक खाने से परहेज करना होगा नमक खाने से सूर्यदेव कमजोर हो जाते हैं और इसका बुरा प्रभाव आपके स्वास्थ्य पर पड़ता है|

 रविवार के दिन आपको मांस मछली और शराब का सेवन नहीं करना चाहिए ऐसा करने से सूर्यदेव रुष्ट हो जाते हैं ऐसे में आप आगे आने वाले समय में संकटों में घिर सकते हैं

जैसा की आप सभी को पता होगा शनि और सूर्य विपरीत ग्रह माने जाते हैं शनिदेव को काले नीले हरे रंग के वस्त्र पसंद होते हैं तो रविवार के दिन आपको इन रंगों के वस्त्रों को धारण नहीं करना अन्यथा आपको हानि उठानी पड़ सकती है|

कुंडली में सूर्य कमजोर होने के नुकसान / सूर्य मजबूत करने के उपाय

यदि जातक की कुंडली में सूर्य  कमजोर होता है तो ऐसे में व्यक्ति को मनचाही सफलता नहीं मिल पाती व्यक्ति कड़ी मेहनत करता है लेकिन उसे मेहनत का फल नहीं मिलता बार बार उसे कामकाज बदलते रहना पड़ता है कोई भी काम सेट नहीं हो पाता इसके अलावा व्यक्ति का स्वास्थ्य कमजोर रहता है बार-बार बीमार पड़ता है और भी बहुत सारे दुष्प्रभाव हैं यदि कुंडली में सूर्य ग्रह कमजोर है तो ऐसे में आपको कुछ उपाय करने चाहिए ताकि आप सूर्य देव को प्रसन्न कर सके और सूर्य देव की कृपा पा सके|  रविवार के दिन सूर्य देव के निम्न उपाय करने से आपको काफी राहत मिलेगी और सूर्यदेव का आशीर्वाद भी|

  1. सबसे पहला नियम बना लीजिए कि रोजाना हंसकर रविवार के दिन उगते हुए सूरज को तांबे के लोटे में जल अर्पण करें ऐसा करने से सूर्य की स्थिति मजबूत हो जाएगी जब मैं थोड़ा सा सिंदूर और लाल रंग का फूल भी डाल लें इससे आपको यदि किसी प्रकार का कोई रोग है तो उससे आपको जल्दी ही छुटकारा मिल जाएगा|
  2.  कैरियर में सफलता पाने के लिए सूर्य देव का उपाय यह होता है कि रविवार को भगवान सूर्य को जल अर्पित करें इसके साथ आप 108 बार ॐ ह्रां ह्रीं हौं स: सूर्याय नम: मंत्र का जाप करें ऐसे में आपको अपने कार्य क्षेत्र में अच्छी सफलता हासिल होगी|
  3.  घर में लड़ाई झगड़े तनाव की स्थिति बनी रहती है सुख शांति और समृद्धि की कमी है तो रविवार के दिन नदी या तालाब में जाकर मछलियों को आटे की गोलियां बनाकर खिलाने से सूर्य देव मजबूत होते हैं और घर में सुख शांति और समृद्धि का वास होता है|
  4. नौकरी या बिजनेस में या अपने कार्य क्षेत्र में आपको सफलता हासिल करनी है तो रविवार के दिन एक हल्दी का टुकड़ा और दो इलायची अपने पास कागज में लपेट कर के रख ले रविवार को आपको यह अपने पास रखना है और सोमवार के दिन स्नान आदि करके इसे किसी मंदिर खास करके सूर्य देवता के मंदिर में आप रख दें ऐसा करने से आपको जल्दी ही सफलता मिलने लगेगी यह सूर्य देव का एक बहुत ही अच्छा टोटका है|
  5. सूर्य देव को खुश करने का अगला टोटका होता है कि व्यापार धंधे में लाभ पाने वाले जो लोग हैं उनको यह करना चाहिए कि सफेद रंग का वस्त्र किसी जरूरतमंद को दान करें ऐसा करने से व्यापार धंधे में काफी उन्नति होगी और व्यापार धंधा लाभ में रहेगा|
  6. रविवार के दिन गौमाता को हरी घास डालने से भी आपको काफी हद तक अपनी परेशानियों से मुक्ति मिल सकती है और ऐसे में आपको पुण्य लगेगा जिससे कि कोई भी आपकी कुंडली में दोष है वह दूर होगा और आने वाले समय में आपके जीवन में सुख शांति समृद्धि आएगी|
  7. पारिवारिक रिश्तो को मजबूत करने के लिए और जीवन में तरक्की पाने के लिए रविवार के दिन ज्वार का दान करना बहुत ही अच्छा माना जाता है|
See also  सोमवार का दिन क्यों खास होता है और इस दिन क्या करना चाहिए

रविवार के दिन पूजा कैसे शुरू करें

 रविवार के दिन आपको प्रातः जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद साफ कपड़े पहने हैं लेकिन ध्यान रखे आपको काले या गहरे रंग के कपड़े पहनने से परहेज करना है इसके अलावा तांबे के लोटे के अंदर शुद्ध जल लेकर उसमें रोली लाल रंग के फूल अक्षत और चंदन मिलाकर सूर्यदेव को अर्घ्य देना है इसके बाद रविवार को व्रत करने का प्रण लेना है जो हमने आपको सूर्य देव को खुश करने का मंत्र उपायों में बताया था वह मंत्र आपको 108 बार जाप जरूर करना है ऐसा करने से आपकी कुंडली में सूर्य मजबूत हो होगा और आपको आने वाले जीवन में सुख शांति समृद्धि मिलेगी|

 रविवार के दिन क्या खरीदना चाहिए क्या नहीं?

 दोस्तों शॉपिंग करना हर किसी को पसंद होता है रविवार की छुट्टी होने के कारण इस दिन लोग रखकर खरीदारी करते हैं लेकिन कई लोगों को यह नहीं पता होता है कि रविवार के दिन उन्हें क्या खरीदना चाहिए और क्या नहीं तो खरीदारी आप नॉर्मल ही कर सकते हैं लेकिन बात यदि क्या नहीं खरीदना चाहिए इसके कारण आपको कष्ट हो सकता है यानी कि किस चीज की खरीदारी करने पर आप पर समस्या आ सकती है सूर्य देव रह सकते हैं तो उनके बारे में हम आपको जानकारी देते हैं सबसे पहले तो रविवार के दिन आपको गार्डनिंग का सामान,  लोहे से बनी वस्तुएं किसके साथ साथ मांस और शराब खरीदना नहीं चाहिए रविवार को क्या खरीदना चाहिए की बात आती है तो इस दिन लाल रंग की वस्तुएं,  वाहन से जुड़े पुर्जे, गेहूं कैंची पर आदि खरीदने से आपको अच्छे परिणाम दिखाई देते हैं और आपके जीवन में समृद्धि आती है|

See also  शनिवार के दिन क्या करें क्या नहीं क्या खाना चाहिए क्या नहीं क्या खरीदें क्या नहीं

रविवार के व्रत के नियम

 दोस्तों हर कोई अपने जीवन में अपने ही नियम पालन करता है लेकिन कुछ नियम बनाए गए हैं हमारे हिंदू समाज के द्वारा जिन्हें कि आपको रविवार के दिन प्रयोग में लाना चाहिए तो रविवार के दिन आपको एक बात सबसे पहले याद रखनी होगी वह यह कि आपको काले या गहरे रंग के कपड़े नहीं उस दिन धारण करने हैं रविवार के दिन आपको सुबह स्नान आदि करने के बाद सूर्य को अर्घ देने के बाद रक्त का प्रण लेना है और इसके बाद आपको पूरी श्रद्धा से पूरे दिन व्रत का पालन करना है सूर्यास्त होने के बाद आप भोजन ग्रहण कर सकते हैं जिसमें की दही दलिया रोटी आदि का सेवन आप कर सकते हैं बाकी यदि आप नियमों की बात करें तो यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपके कुंडली के अंदर सूर्य की स्थिति क्या बनी हुई है तो ऐसे में आप किसी अच्छे ज्ञानीपंडित से सलाह लेकर अपने व्रत के नियम बनाएं और उनका पालन करें|

Leave a Comment